Fill in some text

आज, देश-विदेश में एक अद्वितीय धूमधाम के साथ ही दीपावली का उत्सव मनाया जा रहा है।

इस बार की दीपावली विशेष है, क्योंकि इस अवसर पर अत्यंत शुभकारी योग बन रहा है

इस शानदार मौके पर, घरों में दीपकों की रौशनी और आत्मा की प्रकाश के साथ-साथ अनेक परंपरागत और सांस्कृतिक गतिविधियाँ भी हो रही हैं।

दीपावली के अलावा, इस उत्सव की शाम और रात का समय, मां लक्ष्मी की पूजा और धन-धान्य की प्राप्ति का समय है।

हिंदू पंचांग के अनुसार, दीपावली और मां लक्ष्मी की पूजा का समय कार्तिक मास की अमावस्या तिथि पर प्रदोष काल में और स्थिर लग्न में होता है।

इस बार, लक्ष्मी-गणेश की पूजा के लिए 2 शुभ मुहूर्त होंगे, जो आने वाले समय में समृद्धि और सौभाग्य की स्थिति का सूचना देते हैं।

इस वर्ष, 12 नवंबर को दिवाली के अद्वितीय मौके पर, मां लक्ष्मी की पूजा के लिए दो सुखद मुहूर्त उपलब्ध होंगे।

पहला शुभ मुहूर्त शाम के समय, यानी प्रदोष काल में होगा, जब आकाश धूप और धूम्रपान से शुद्ध होता है। साथ ही, दूसरा शुभ मुहूर्त निशिथ काल में होगा

प्रदोष काल 12 नवंबर 2023- सायंकाल 05:11 से 07:39 बजे तक वृषभ काल (स्थिर लग्न) -05:22 बजे से 07:19 बजे तक